वेब होस्टिंग क्या है- वेब होस्टिंग की पूरी जानकारी – Web Hosting Kya hai

दोस्तों आज की इस पोस्ट में हम आपको बताएँगे कि , Web Hosting kya hai (क्या है), Web Hosting कितने प्रकार की होती है ? आज के वक़्त में अपना खुद का एक website होना बहुत बड़ी और बहुत ज़रूरी बात है।अपनी वेब साइट को बनाने के लिए आप को दो बाते जाननी बहुत आवश्यक हैं पहला ये की डोमेन नेम क्या है Domain Name Kya hai ? डोमेन रजिस्ट्रेशन क्या होता है ? Domain Name Registration Kya hota hai और दूसरी बात ये की वेब होस्टिंग क्या है या Web Hosting kya hai.। कई बार इसे डोमेन होस्टिंग भी कहा जाता है

Domain Name Kya hai ? डोमेन रजिस्ट्रेशन क्या होता है ? Domain Name Registration Kya hota hai

आप उदाहरण के लिए कोई भी वेबसाइट भी वेबसाइट ले सकते हैं जैसे हम यहां अपनी वेबसाइट http://www.kaisesikhe.com की बात कर रहे हैं । जब हमने इस ब्लॉग को शुरू करने के बारे में सोचा होगा तो हमे अपनी वेबसाइट या ब्लॉग का नाम भी डिसाइड करना पड़ा होगा । आप की वेबसाइट का नाम ही डोमेन नेम कहलाता है ।
http://www.facebook.com
http://www.kiasesikhe.com
http://www.flipcart.com
http://www.olx.in

ये सारे डोमेन के नाम हैं जिन्हें इन्टरनेट पे लांच करने से पहले ख़रीदा गया होगा ।

Domain Name कहाँ से ख़रीदे

किसी भी नए डोमेन को खरीदने की पहली शर्त ये हैं कि उस नाम का डोमेन उपलब्ध होना चाहिए। अगर उस नाम का डोमेन किसी और ने खरीद लिया है तो आप उस डोमेन को खरीद नहीं सकते है । सामान्यतया डोमेन नाम १ वर्ष या 1 year के लिए ख़रीदे जाते हैं और पहली बार किसी डोमेन को खरीदने पर अच्छा और आकर्षक ऑफर भी मिलता है । नए डोमेन नाम की कीमत 99 रुपये से लेकर 800 रुपये तक हो सकती है 1 साल के लिए । नए डोमेन को खरीदने के लिए आप को ऑनलाइन पेमेंट करना पड़ता है । १ वर्ष पूरे होने पर आपको फिर से renewal करना पड़ता है । renewal का खर्च भी लगभग इतना ही आता है आप नए डोमेन को इन वेबसाइट से खरीद सकते हैं
http://www.godaddy.com
http://www.bigrock.com
http://www.whois.com

और कई सारी वेबसाइट हैं जहाँ से आप ऑनलाइन नई डोमेन खरीद सकते हैं| चलिए अब web hosting के बारे हिंदी में जान लेते है.

Web Hosting Kya Hai (वेब होस्टिंग क्या है) – What is Web Hosting? Web Hosting In Hindi 

Web Hosting का मतलब है कि आप के डोमेन नेम से या वेबसाइट के नाम से खुलने वाले वेब पेजेज को किसी ग्लोबल जगह (दूसरे कंप्यूटर )पर स्टोर करना । ऐसी जगह जो 27X7 on रहे| जहाँ पर आपकी वेबसाइट के वेब पेज और इनफार्मेशन स्टोर किये जाए 

जब आपका computer कोई public network से जुड़ जाता है, तो वो भी Internet का एक हिस्सा बन जाता है. जिससे आप web server या web host भी कह सकते हैं.तो आप ये सोच रहे होंगें, के अगर आपका computer भी एक server है तो दूसरे लोग इससे क्यों नहीं देख पाते? इसका जवाब ये है के, हर computer और mobile में privacy और security रहता है, इसीलिए दुसरों इसे access नहीं कर पाते. अगर आप इसी security को हटा के public access दे देते है तो हर कोई आपकी computer में रखे गए contents को देख पायेगा| Web hosting (web server) सारे websites को Internet मे जगह देने की सेवा प्रदान करता है जिसके वजह से किसी एक व्यक्ति या organization के website को पूरी दुनिया मे Internet के ज़रिए access किया जा सकता है| “जगह देने ” है से हमारा मतलब है की आपके website के files, images, videos, etc को एक special computer पे store करके रखता है जिसको हमweb server कहते हैं. वो computer हर वक़्त 24×7 Internet से connected हो कर रहता है. Web hosting की सेवा हमे बहुत सारे companies प्रदान करते हैं जैसे Godaddy, Hostgator, Bluehost, etc. और इनको हम web host भी कहते हैं. एक हिसाब से हम ये भी कह सकते हैं की अपने वेबसाइट को दूसरे high powered computers (web servers) मे store करके रखने के लिए हम उन्हे किराया देते हैं जैसे हम किसी और के घर मे रहने के लिए किराया देते हैं ठीक उसी तरह.
जब हम अपना website बनाते हैं तो हम यही चाहते हैं की हम अपना knowledge और information लोगों के साथ बाटें, तो उसके लिए हमे पहले अपने Files को Web hosting पर upload करना पड़ता है. ऐसा कर लेने के बाद, जब भी कोई Internet यूज़र अपने web browser(Mozilla Firefox, Google Chrome, Opera) पे आपका domain name टाइप करता है जैसे मान लीजिए http://www.kaisesikhe.com, फिर उसके बाद Internet आपके domain name को उस web server से जोड़ देता है जहाँ आपके website का फाइल्स पहले से ही store हो कर रखा गया है. जोड़ने के बाद website का सारा information उस यूज़र के कंप्यूटर मे पहुँच जाता है फिर वहाँ से यूज़र अपने ज़रूरतो के हिसाब से पेज को view करता है और ज्ञान ग्रहण करता है…

पूरी दुनिया में बहुत सारी Companies है जो बेहतर से बेहतर Hosting Service Provide करते है. अगर आप चाहते है के आपके सारे Visitors India से ही हो, तो आपको India से hosting खरीदना ज़्यादा अच्छा रहेगा। आपकी hosting का server आपके country से जितना दूर रहेगा, website को access करने में आपको उतना time लगेगा। अगर आप India के जितने web hosting providers है, उनसे hosting खरीदते है तो आपको उसके लिए credit card की जरुरत नहीं पड़ेगी । आप अपने ATM card या फिर Internet banking के जरिये खरीद सकते है. एक बार आप hosting खरीद लेते है तो आप आसानी से उसको अपने Domain name के साथ जोड़ कर access कर सकते हैं. नीचे आपको कुछ website के नाम मिलेंगे, जिनपे यकीन किया जा सकता है और इनकी सर्विस भी बहुत अच्छी है
Hostgator India
Godaddy
BlueHost
BigRock

tags : Web Hosting Kya hai, Domain Name Kya hai, वेब होस्टिंग क्या है

वेब होस्टिंग (Web Hosting)खरीदते वक़्त रखे इन बातो का ध्यान 

Web Hosting Kya hai ये जानने के बाद  Web Hosting खरीदने केलिए आपके पास बहुत सारे options आयेंगे, पर आपको ये decide करना पड़ेगा के आपके जरूरतों के हिसाब से कौनसा company ठीक रहेगा. Hosting खरीदने से पहले कुछ जानकारिय होना बेहद जरुरी है.
Disk Space

Disk Space होता है आपके hosting का storage capacity. जैसे आपके computer में रहता है 500GB और 1TB space, उसी तरह hosting में भी storage रहता है. हो सके तो unlimited disk space वाला hosting खरीदें. इससे आपको कभी disk full होने का खतरा नहीं रहेगा.

Bandwidth

एक second में आपकी website के कितने data access कर सकते है उसे हम bandwidth कहते है. जब कोई आपकी website को access कर रहा होता है तो आपकी server कुछ data use करके उसे information share करता है. अगर आपका bandwidth कम है और आपके website को ज्यादा visitor access कर रहे है तो आपकी website down हो जायेगा.

Uptime

आपकी website जितने time online या available रहता है उसे uptime कहते है. कभी कभी कुछ problems के कारण आपका website down हो जाता है, मतलब खुल नहिं पता. उसे हम downtime कहते है. आज कल हर company 99.99% uptime के guarantee देते है.

Customer service

हर hosting company कहती है  वो 24×7 customer service provide करते है. पर आखिर में ऐसा नहीं होता . हमे इस बात का बहुत ध्यान चाहिए की वास्तव में कंपनी का सपोर्ट सिस्टम अच्छा है भी नहीं । आप चाहे तो Internet पे उस कंपनी के रिव्यु पढ़ सकते हैं| सर्विस से जुडी सारी जानकारी लेने के बाद ही होस्टिंग खरीदने का प्लान बनाये |

अब चलिए ये जाने कि होस्टिंग कितने तरह की  होती है

Web hosting kitne prakar ke hote hain – Types of Web Hosting- होस्टिंग कितने तरह की  होती है 

अगर ऑपरेटिंग सिस्टम और प्लेटफॉर्म के आधार पर देखें तो होस्टिंग 2 प्रकार की होती है

  1. Linux Hosting
  2. Windows Hosting

Linux Hosting : 
ऐसी होस्टिंग जहाँ पर आप को वेबस्पेस उस कंप्यूटर पर मिले जिस पर लिनक्स Linux इनस्टॉल है तो ऐसी होस्टिंग को लिनक्स होस्टिंग कहते हैं । ऐसी होस्टिंग पर सामान्य तौर पर सिर्फ php के वेबपेज ज़्यादा अच्छा सपोर्ट करते हैं  । इस होस्टिंग को खरीदने पर लागत थोड़ी कम आती है

Windows Hosting :
ऐसी होस्टिंग जहाँ पर आप को वेबस्पेस उस कंप्यूटर पर मिले जिस पर Windows इनस्टॉल है तो ऐसी होस्टिंग को Windows होस्टिंग कहते हैं । ऐसी होस्टिंग पर सामान्य तौर पर ASP के वेबपेज ज़्यादा अच्छा सपोर्ट करते हैं | linux Hosting की तुलना में windows Hosting की लागत थोड़ी ज़्यादा आती है |

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s